ताज महल के बारे में

ताजमहल एक विश्व प्रख्यात स्मारक है जो यमुना नदी के किनारे स्थित है। ताजमहल की सुंदरता पर रूडयार्ड किपलिंग ने कहा, "इसकी सभी चीज़ों का मूर्त रूप शुद्ध है" और इसके लिये कोई शब्द नहीं हैं क्योंकि यह निसंदेह रूप से सुंदरता का एक शुद्ध प्रतीक है। दुनिया के इस अजूबे की वास्तुकला की कई खूबियों में से एक यह भी है कि चारों तरफ से कहीं से भी इसे देखने पर यह एक जैसा ही लगता है। इसके अलावा चारों तरफ के प्रवेश द्वारों पर उकेरी गई कुरान की आयतें नीचे से लेकर ऊपर तक देखने में एक ही आकार की लगती हैं। अपनी बेगम मुमताज़ महल की याद में बादशाह शाहजहां ने ताजमहल का निर्माण करवाया था जिनकी मृत्यु अपने 14 वें बच्चे को जन्म देने के दौरान हो गयी थी और उनकी आखिरी इच्छा थी कि उनके पति "उनकी स्मृति में इस तरह की एक कब्र का निर्माण करें जिसे विश्व ने पहले कभी नहीं देखा हो।" यह माना जाता है कि 17 वर्षों से अधिक समय में करीब 22000 श्रमिक और 1000 हाथियों के श्रम से इस अद्भुत समाधि का निर्माण पूरा हो सका था। ताजमहल आगरा की तीन विश्व धरोहर स्थलों में से एक है। संगमरमर के पत्थरों पर बारीक नक्काशी के अलावा कीमती पत्थरों की पच्चीकारी लोगों का ध्यान आकर्षित करती है। ताजमहल सिर्फ अपनी सुंदरता के लिए ही विख्यात नहीं है बल्कि निर्माण के लिए गहन प्लानिंग और डिज़ाइन भी इसे अद्वितीय बनाती है। स्थापत्य की यह उत्तम कृति फोटोग्राफर और विदेशी पर्यटकों द्वारा भारत में सबसे अधिक भ्रमण किया जाने वाला स्मारक है।    देखने का समय : सूर्योदय से सूर्यास्त तक खुला। शुक्रवार को बंद।

खुला

रविवार, सोमवार, मंगलवार, बुधवार, गुरूवार, शनिवार

खुलने का समय

सूर्योदय से सूर्यास्त

यात्रा सम्बंधी सुझाव

उचित पहचान पत्र प्रस्तुत करने वाले स्वीकृत मार्गदर्शकों की सहायता लें।

स्मारक के आसपास धूम्रपान और भोजन करना वर्जित है।

एक विश्व धरोहर स्थल होने के कारण स्मारक को नुकसान न पहुँचाये।

ताजमहल में कैमरे की अनुमति है लेकिन मुख्य मकबरे के भीतर फोटोग्राफी प्रतिबंधित है।

प्रदूषित वाहनों को ताजमहल के 500 मीटर के भीतर प्रवेश की अनुमति नहीं है। पूर्वी गेट के शिल्पग्राम और पश्चिमी गेट के लिए अमरुद -का-टीला में पार्किंग सुविधा उपलब्ध है।